Received Mails and Comments


  

रुपेश जी,

आपका कार्य अति उत्तम है, स्वामी जी के बारे में आपके पास जो संग्रह है उस से कुछ न कुछ लिखते रहीये. इसलिए जब भी मौका लगे जरुर लिखीये। ताकि स्वामी जी के बारे में हिन्दी भाषा के लोगो को आपके ब्लॉग से ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिल सके।

कन्हैया रस्तोगी

रूपेश जी ,  

आपका हिन्दी चिट्ठा-जगत में आत्मीय अभिनन्दन है | आपके माध्यम से लोक कल्याण का एक पुराना परन्तु मेरे लिये नया मंत्र मिला है -- "वसन्तवत् लोकहितं चरन्त:" ( वसन्त की तरह लोक-कल्याण करते हुए..)

अनुनाद

Dear Nandu and Rupesh Saprem namaskar. There are no words to express the beauty of विवेक   thank you very much for considering my name.

Best regards,
Jayant

Dear Nandu, 

Thank you for intimating me about the site on Swami Vivekanand.An excellent job.I have visited the site. It contains very inspiring and rich resource.
I deeply admire the job.
 
Warm regards,

रुपेशजी की यह साईट बहुत सुन्दर है | उससे कडियाँ भी बहुत उपयोगी हैं | 

ईश्वर आप सब को निरन्तर प्रेरणा प्रदान करता रहे और आप मानव जाती का भला करते रहें |
 

हिमांशु

This blog is a great idea -- brilliant quotes from one of the Greatest Masters of all time. Namaste, my friend ...

regards,

Julian West

AApkay vichaar padhey bahu aacha laga ..

aur aapnay site bahut hi aachi maintain ki hai ..
bahut aanandqa hoowa ..
http://www.doctorji.net.ms/ SneHankit
-Sanjay