Suggestions: ( सुझाव )

Suggestions (सुझाव)

सुझाव :

लययुक्त गति एक चाह बन कर ना रह जाए ! जो भार लादे चली जा रही हो उसे अब और मत घसीटो ! भार मुक्त होना ही लय में तिरना है !

नाप तोल कर वही बोलिए, जिससे अकेले में भी आप अपने आप से सहमत हों ! बात वही कीजिए जिससे मौन खरीदा जा सके !

धैर्य रखना, सदय और सरल हो जाना ही अपनी समझ के हाथ लंबे कर लेना है ! --इन्द्रा
Comments