Mission:  

To raise the consciousness!

Your thoughts are the rustling leaves that answer the storm of some emotion. Pause, let the leaves settle down and discern the flower of total silence and personal presence.--Indra (Dhir) Wadehra


Something to reflect

"Awareness that moves through silent route will discern consciousness that strings the whole world together."
--Indra



"Saint is a person with lot of awareness but very little thought." --Indra


"When Mind steps back and entrusts Soul to lead, Silence nurtures Soul and Heart it feeds." --Indra

"Age was only expected to dim our view, and not our view of what's really important to us."--Indra

 


अहं

“हर कोई व्यक्ति एक कचहरी के कटहरे में खड़े दोशी की भांति अपनी ‘मैं’ की सफाई पेश कर रहा दिखाई पड़ता है ! यह कचहरी अपने मन के अंदर चल रहे विचारों की हो या दोस्तों से हो रहे वार्तालाप की हो, सफाई केवल ‘अपनी मैं’ की ही पेश की जाती है”!

इन्द्रा (धीर) वडेहरा

---

प्रश्न :    साधना करने से क्या लाभ ?

उत्तर : अपने मन की आँखों से देखने और मौन क्षणों के अनुभव से जानने की तुलना मैं इन शब्दों से करना चाहुँगी :  अपने मन की लैंप जला कर जब देखते हैं तो दृष्य की परिधि ही सीमित दिखाई देती है, लेकिन जब उसका सूरज निकलता है तो सारे का सारा दृष्य साफ़ दिखाई देता है ! कहने का तात्पर्य यह है कि मौन क्षणों में उसका सूरज सा निकलता है और सारे का सारा दृष्य साफ़ दिखाई देता है !

इन्द्रा

 ---

साहस और धैर्य की असली पहचान तो यही है कि व्यक्ति मानव धर्म के प्रति सजग है या नहीं !

इन्द्रा