महा शिवरात्रि

फूल धतुरा बेर बेल का फल और पत्ती दूध पानी शिव जी को चढाएँ. रोली का टीका शिवजी को लगाएं. दीपक और अगरबत्ती या धूप और धन. प्रत्येक चडावे के साथ ॐ नमः शिवाय का स्मरण करें.

 

व्रत

केवल फलाहार - दिन में एक बार

कुट्टू या संघारे का आटा, दूध, दही, मखाने की खीर विशेष है

बाकी समय चाय, फल खा सकते हैं

Comments