Home


Robin Sharma 
(Chairman / Owner)



Presenting:- Benefits of Astrology (Join it & get Benefits)


but 1st
Shri Ganesh Special

श्री गणेश जी एक परिचय

श्री गणेशजी शिवजी और पार्वतीजी के पुत्र हैं। गणेशजी समस्त गणों के स्वामी होने के कारण उनहे गणो के पति अर्थान्त गणपति के नाम से जानते हैं।

 

हिन्दू संस्कृति में सभी शुभ कार्य का शुभारंभ श्री गणेश जी के नाम से एवं पूजा अर्चना से शुरु किया जाता हैं।

श्री गणेश जी की पूजा प्रत्येक शुभकार्य करने के पूर्व     "श्री गणेशायनम:"  का उच्चारण किया जाता हैं, इसका तत्पर्य हैं गणेश जी की आराधना हर प्रकार के विघ्नों के निवारण करने के लिए किया जाता है। 

 

 

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटि समप्रभा।

निर्विघ्नं कुरू में देव, सर्व कार्येषु सर्वदा॥

 

   

 

 

गोस्वामी तुलसीदास जी ने श्री रामचरित मानस के मंगलाचरण में गणेश जी की वंदना करते हुए लिखा है:-

  जो सुमिरन सिधि होई गन नायक करिवर वदन।

करउ अनुग्रह सोई बुधि रासि शुभ गुण सदन॥

 

गणेश जी का परिवार

पिता- भगवान शिव

माता- भगवती पार्वती

भाई-  कार्तिकेय

पत्नी- दो 1.रिद्धि 2. सिद्धि (किन्तु दक्षिण भारतीय संस्कृति में गणेशजी ब्रह्मचारी रूप में दर्शाये गये हैं)

पुत्र- दो 1. शुभ 2. लाभ.

 

 

 

 

 

 

 

  
Comments